डिप्रेशन

मानसिक बीमारी दूर करने के प्राकृतिक उपाय

इस भागदौड़ भरी जिंदगी में लोग मानसिक बीमारी और तनाव के शिकार हो रहे हैं, आइए जानते इसे दूर करने के प्राकृतिक उपायों के बारे में, mental health naturally.

आज इंसान के पास समय नहीं है कि वह खुद के बारे सोचे। कुछ पाने की चाह लेकर बिना रुके वह भागता जा रहा है। ऐसे में वह कई तरह की मानसिक और शारीरिक रोगों का शिकार होता जा रहा है। 10 अक्टूबर विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस, एक सही याद दिलाता है कि अच्छे स्वास्थ्य में शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य शामिल है। आज हम आपको बताएंगे कि आप मानसिक रूप से अपने आप को कैसे स्वस्थ रख सकते हैं।

मानसिक बीमारी दूर करने के लिए व्यायाम है जरूरी

हाल के कई अध्ययनों से पता चला है कि नियमित रूप से व्यायाम करना अवसाद को रोकने और उससे निपटने में मदद करने का एक प्रभावी तरीका हो सकता है। इस महीने के शुरू में प्रकाशित अपने सबसे बड़े और सबसे व्यापक अध्ययनों में से पाया गया है कि यदि सप्ताह में एक घंटा शारीरिक रूप से व्यायाम करते हैं तो यह आपके पूरे बॉडी को फिट रखने के लिए पर्याप्त है।

व्यायाम करने से न केवल आप मानसिक तौर पर स्वस्थ रहेंगे बल्कि आप शारीरिक रूप से मजबूत रहेंगे। व्यायाम वजन को कम करने, आपकी त्वचा को हेल्दी रखने तथा आपकी एनर्जी को बढ़ाने में भी सहायक है।

मानसिक रोग दूर करने के लिए पूरी नींद लें

मानसिक रोग दूर करने के लिए पूरी नींद लें

ब्रिटेन के अनुसंधान में पाया गया कि ऑनलाइन संज्ञानात्मक व्यवहार थेरेपी (सीबीटी) के साथ अनिद्रा का इलाज करने से मानसिक स्वास्थ्य समस्याओं जैसे कि चिंता, अवसाद और व्यामोह का इलाज करने में मदद मिल सकती है। टीम ने पाया कि नींद में सुधार के लिए मनोवैज्ञानिक उपचार का उपयोग करके, वे मानसिक स्वास्थ्य में सुधार भी कर सकते हैं, क्योंकि नींद की कमी अक्सर अवसाद के उच्च जोखिम से जुड़ी होती है।
टीम ने कहा कि परिणाम बताते हैं कि लोगों की नींद में मदद करना “कई मनोवैज्ञानिक और भावनात्मक समस्याओं से निपटने में एक महत्वपूर्ण पहला कदम है।”

वैसे यदि आप भरपूर नींद लेते हैं तो आप मानसिक रोगों के शिकार बहुत ही कम होंगे। नींद आपको बेहतर महसूस कराती है। पर्याप्त नींद एक स्वस्थ जीवन शैली का महत्वपूर्ण हिस्सा है और यह आपके हृदय, वजन और मन को सेहतमंद रखने का काम करती है।

मानसिक रोग से छुटकारा पाने के लिए स्वयंसेवक बनें

मानसिक रोग से छुटकारा पाने के लिए स्वयंसेवक बनें

दिमागी तौर पर खुद को स्वस्थ्य करना है, तो मैं से परे हटकर कुछ समय के लिए आपको दूसरों के बारे में सोचना होगा। कई अध्ययन में पाया गया है कि गैर-स्वयंसेवकों की तुलना में स्वयंसेवक मानसिक तौर पर ज्यादा स्वथ्य रहते हैं। इस बात का ध्यान रखिए कि यहां स्वयंसेवक का मतलब यह नहीं कि आप किसी फेक संस्था से जुड़े बल्कि संस्था को सही से पहचानें। यदि आप लोगों की मदद करते हो तो आपके दिल को बहुत ही अच्छा महसूस होता है।

कुछ समय कुदरत को दें

यदि खुद को मानसिक तौर पर स्वस्थ्य रखना है, तो कुदरत से प्यार करना सीखें। न्यूजीलैंड के एक अध्ययन में पाया गया कि मानसिक स्वास्थ्य और समुद्र के दृश्य के बीच बहुत ही गहरा संबंध है। इससे आपको मानसिक तनाव से मुक्ति मिलती है। आपको न केवल पेड़ पौधे और नदियों से प्यार करना है बल्कि जानवरों से भी आपको सकारात्मक लगाव रखना है। ये सब चीजें आपको मानसिक सुख देंगी।

डिसक्लेमर : Sehatgyan.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatgyan.com की नहीं है। sehatgyan.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।