बीमारियां

साइनस पर परहेज – न खाएं ये आहार

साइनस में परहेज क्या न खाएं ये आहार साइनस में जल्दी ठीक होने के लिए, sinus mein parhej kya na khayen sinus mein thik hone ke liye

बहुत लोगों की सर्दी-जुकाम एक या दो दिन में ठीक हो जाती है लेकिन ऐसे भी लोग हैं जिनकी जुकाम 6-7 दिन में भी ठीक नहीं होती। उनकी नाक बहती है, आंखों में दर्द होता है और सिरदर्द भी रहता है। ऐसे लोग साइनस की बीमारी के शिकार होते हैं। यह एक तरह का संक्रमण है जिससे बहुत से लोग परेशान रहते हैं। आइए जानते हैं साइनस होने पर किन चीजों का करना चाहिए परहेज।

साइनस पर परहेज – Sinus mein parhej in hindi

शराब का न करें सेवन

अक्सर देखा गया है कि लोग सर्दी-जुकाम और साइनस की बीमारी में शराब का सेवन करने लगते हैं। यह एक गलत आदत है। दरअसल शराब का सेवन हमारे शरीर को डीहाइड्रेट करती है। इससे म्यूरमस गाढा हो जाता है और संक्रमण को और ज्याकदा उत्तेमजित बना देता है। इसलिए साइनस की बीमारी में इसका सेवन नहीं करना चाहिए। हम तो यही चाहेंगे कि आप शराब का सेवन न करें। यह आपके सेहत को बुरी तरह से नुकसान पहुंचाता है।

मसालेदार भोजन को करें परहेज

एक स्वस्थ्य व्यक्ति को मसालेदार भोजन का सेवन नहीं करना चाहिए। इससे न केवल आपकी पाचन शक्ति कमजोर होगी बल्कि यह आपके पेट में जलन को भी पैदा करेगा। इसे साइनस की बीमारी में भी परहेज करना चाहिए। देखा गया है कि मसालेदार युक्त भोजन खाने से नाक बहना शुरू हो जाता है, जिससे म्यूुकस निकल जाता है, लेकिन हर किसी के साथ ऐसा नहीं होता। यदि मसालेदार भोजन खाने से आपकी नाम जाम हो जाए तो उसे तुरंत खाना छोड़ दें।

कैफीन युक्तत पेय पदार्थ

कैफीन युक्त ड्रिंक्स, चाय-कॉफी और चॉकलेट का सेवन साइनस की बीमारी कभी नहीं सेवन करना चाहिए। देखा गया है कि कुछ लोग चाय-कॉफी का इतना सेवन करते हैं कि उन्हें अपनी बीमारी का परवाह नहीं होता। उन्हें लगता है कि चाय और कॉफी का सेवन करके आलस और नींद को भगा रहे हैं लेकिन दरअसल वह अपने स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचा रहे होते हैं। साइनस बीमारी में इसका सेवन करने से शरीर में पानी की कमी हो जाती है जो कि नाक को जाम कर सकता है।

कैफीन युक्तक पेय न केवल साइनस की बीमारी में बल्कि दिल से संबंधित परेशानियां, मधुमेह, अनियमितता और मोटापे में भी इसका सेवन नहीं करना चाहिए। वैसे आप हर्बल चाय का सेवन कर सकते हैं।

साइनस में ठंडे पदार्थ से बनाएं दूरी

cold-drink-ka-na-kare-sevan

ठंडी आइसक्रीम, ठंडी बीयर, कोल्ड कॉफी, कोल्ड्रिंक और जमे हुए ठंडे पादार्थ आदि को साइनस की बीमारी में परहेज करना चाहिए। इनका सेवन करने से न केवल शरीर में शुगर की मात्रा बढ़ती है बल्कि आप मोटे भी हो सकते हैं। बच्चे इनका ज्यादा सेवन करते हैं इसलिए उन्हें इनके नुकसान के बारे में बताएं। साइनस की बीमारी में इसका सेवन करने से बीमारी और बढ़ सकती है और सिर में तेज दर्द हो सकता है।

संक्रमण बनाने वाले खाद्य पदार्थ

साइनस एक ऐसी बीमारी है जिसमें जुकाम रहता है और नाक बंद रहता है। ऐसी स्थिति में आपको उन चीजों से दूरी बनाकर रखना चाहिए जिससे संक्रमण बढ़ता हो। दूध, चीज या कोई अन्यख डेरी प्रोडक्ट इन चीजों को साइनस बीमारी में कम से कम सेवन करना चाहिए। ये साइनस संक्रमण को बढ़ा सकती है। वैसे कुछ लोग मानते हैं कि दूध से बने पेय पदार्थ से संक्रमण नहीं बनता है।

अन्य खाने पीने की चीजें

तला हुआ भोजन, सफ़ेद चीनी, बेक की गई पदार्थ और मांस और मांस उत्पादों का सेवन साइनस की बीमारी में नहीं करना चाहिए।

डिसक्लेमर : Sehatgyan.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatgyan.com की नहीं है। sehatgyan.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।