घरेलू नुस्खे - घरेलू उपचार

छाती में जमाव को दूर करने के 9 आसान घरेलू उपचार

छाती में जमाव या फिर छाती में जकड़न और छाती में बलगम को दूर करने के लिए आइए जानते आसान घरेलू उपचार के बारे में, Treat chest congestion with home remedies.

छाती में जमाव की स्थिति या चेस्ट कंजेस्टिव दर्ददायक हो सकती है, और इससे छाती में भारीपन की भावना काफी आम है। छाती में जमाव में श्वास बहुत मुश्किल हो सकता है, जो फेफड़ों में वायु प्रवाह की कमी का संकेत देता है। सर्दी और फ्लू से जुड़ी इस समस्या का कारण आम सर्दी से लेकर हृदय संबंधी बीमारियां हो सकती है। यदि आप नियमित रूप से छाती में जमाव का सामना कर रहे हैं, तो चिकित्सकों की मदद से इसका इलाज कराना जरूरी है। इसके अलावा घर पर कुछ आसान घरेलू उपचार भी आपको इस समस्या से छुटकारा दिला सकते हैं।

छाती में जमाव के 9 आसान घरेलू उपचार

छाती में संक्रमण को कम करे शहद और नींबू

छाती में संक्रमण को कम करे शहद और नींबू

शहद में जीवाणु-रोधी गुण श्वसन तंत्र में अक्सर छाती में जमाव करने वाले संक्रमण को कम करने के लिए बहुत अच्छे होते है। नींबू में बहुत सारा विटामिन-सी होता हैं, जो आपके शरीर को संक्रमण से लड़ने की जरुरी शक्ति प्रदान करता है। गरम पानी, शहद, और नींबू के रस का उपयोग गरम चाय की तरह किया जा सकता है।

गर्म पानी पिएं

जब आपकी सेहत बहुत ज्यादा छाती में जमाव से भर जाती है तो हल्का गर्म पानी पीने से आपको, कफ और बलगम के संचय के कारण होने वाली, छाती की जकड़न को तोड़ने में मदद मिलेगी।

बलगम को दूर करे भाप

बलगम को दूर करे भाप

छाती की जकड़न से तीव्र राहत प्राप्त करने के लिए भाप में सांस लेना एक और प्रभावी तरीका है। भाप की गर्मी और नमी के फलस्वरूप चिपचिपी बलगम आसानी से टूट जाती है और विघटित हो सकती है। बहुत गर्म पानी के साथ एक कटोरा भरें और पुदीने के आवश्यक तेल की कुछ बूंदें उसमें डालें। जब तक हो सके, भाप के साथ गहरी श्वास लें।

गर्म पानी के ग़रारे करना

सीने की जकड़न के लिए अधिकतर इस्तेमाल किये जाने वाले घरेलू उपचार में से एक नमक का पानी है। खारे पानी के साथ ग़रारे करना, श्वसन नलिका से बलगम को हटाने में मदद करता है। गर्म पानी में नमक और हल्दी मिला कर उपयोग करने से भी छाती के जमाव में राहत मिलती है।

छाती के जमाव के लिए हर्बल चाय पिएं

छाती के जमाव के लिए हर्बल चाय पिएं

गर्म हर्बल चाय सीने के जमाव के लिए एक अच्छा उपाय हो सकता है। विभिन्न जड़ी-बूटियों जैसे इलायची, अदरक आदि से तैयार हर्बल चाय छाती के जमाव में राहत प्रदान करने में बहुत सहायक हैं जो छाती का जमाव करने वाले बैक्टीरिया का विरोध करने में सहायक होती है।

गरम दूध और हल्दी

जैसा कि हम सभी हल्दी के औषधीय गुणों जानते हैं। यह ठंड और खांसी से संबंधित समस्याओं को जल्दी से इलाज करने की अपनी क्षमता के लिए बहुत प्रसिद्ध है। हल्दी का आधा चम्मच गर्म दूध में मिलाकर, शहद और थोड़ी काली मिर्च जोड़ें और अच्छी तरह से इसे मिश्रित कर उपयोग करें।

बलगम को दूर करे हल्दी

बलगम को दूर करे हल्दी

हल्दी में एक सक्रिय कर्क्यूमिन होता है, जिससे बलगम खत्म होती है और आपको छाती के जमाव से जल्दी राहत मिलती है। इसके लिए गर्म पानी के गिलास में हल्दी पाउडर का उपयोग गरारे करने, हल्दी पाउडर को एक गिलास दूध में डालने से छाती के जमाव में फायदा देते हैं।

काली कॉफी का उपयोग करें

काली कॉफी भी छाती के जमाव के खिलाफ एक प्रभावी उपाय है। जब आप सांस की कमी और खांसी से पीड़ित हैं, तो दो या तीन कप काली कॉफी का उपभोग करें कॉफी में मौजूद कैफीन सांस की तकलीफ के खिलाफ दवा की तरह कार्य करता है और श्वसन नलिका से बलगम साफ करता है।

 

छाती के जमाव में प्याज है एक अच्छा उपाय

छाती के जमाव में प्याज है एक अच्छा उपाय

छाती के जमाव के लिए प्याज एक अच्छा उपाय है। इसमें क्विर्सटिन है जो बलगम को खत्म करने में मदद करता है। इसके रोगाणुरोधी गुण भी संक्रमण को रोकने में मदद करते हैं। प्याज के रस को नींबू के रस, शहद और पानी की बराबर मात्रा में मिश्रित कर गुनगुना कर उपयोग करने से छाती के जमाव में राहत मिलती है।

डिसक्लेमर : Sehatgyan.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatgyan.com की नहीं है। sehatgyan.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।