घरेलू नुस्खे - घरेलू उपचार

कपूर और सरसों के तेल के फायदे

Musturd oil health benefits in hindi.

सरसों का तेल करता है बहुत फायदे - musturd oil benefits

सरसों के तेल का इस्तेमाल हम अक्सर अपनी रसोई में करते हैं। इससे न सिर्फ हमारी सब्जी में अच्छी बनती है बल्कि यह हमारी सेहत के लिए भी बहुत ही फायदेमंद होता हैं। इसलिए हम इसका उपयोग खाने के साथ-साथ दवा के रूप में भी करते हैं। सरसों के तेल में कई तरह के पौष्टिक तत्व पाए जाते हैं जो हमारी सेहत के साथ-साथ हमारे बालों और हमारी स्किन के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। सरसों के तेल को हम अक्सर पेनकिलर के रूप में भी इस्तेमाल करते हैं। आज हम आपको कपूर और सरसों के तेल के फायदे बताते हैं…

  • दर्दनाशक गुण
    सरसों के तेल में दर्दनाशक गुण पायें जाते हैं इसलिए जब भी हमें कान का दर्द सताता है, तो इसे थोड़ा गुनगुना करके कान में डालने से कान का दर्द ठीक हो जाता है। इसमें आप लहसुन की कलियों को डाल कर अच्छी तरह से काला कर लें। फिर इसे गुनगुना करने के बाद अपने कान में डालें आप के कान का दर्द ठीक हो जाता है।
  • सौन्दर्य को निखारे
    सरसों के तेल से हमारा सौन्दर्य निखरता है। इसके लिए थोडा बेसन, सरसों के तेल की कुछ बुँदे, हल्दी मिलाकर उबटन तैयार करें। फिर उसे अपने चेहरे पर लगाएं थोड़ी देर बाद अपना चेहरा साफ़ पानी से साथ धो लें। आप का चेहरा साफ़ हो जाएगा।
  • दिल के लिए
    सरसों के तेल का सेवन करने से हमारा दिल चुस्त दरुस्त रहता है, साथ में जो लोग सरसों के तेल का सेवन करते हैं। उन्हें दिल की बीमारी का सामना नहीं करना पड़ता।
  • गठिया से राहत
    जिन लोगों को गठिया होता है या गठिये से परेशान होते हैं। उन्हें सरसों के तेल में कपूर मिलाकर मालिश करनी चाहिए। ऐसा करने से उन्हें राहत मिलती है ।
  • कमर दर्द के लिए
    अक्सर सर्दियों के दिनों में कमर में दर्द होने लगता है। ऐसे में हमें सरसों के तेल में थोड़ी हींग, अजवाइन, और लहसुन की कलियाँ लेकर उसे गर्म करें, फिर उसे कमर पर लगाएं। ऐसा करने से आप का कमर दर्द ठीक हो जाएगा
  • नवजात शिशु की मालिश
    नवजात शिशु की सरसों के तेल से मालिश करनी चाहिए। इससे उसे ठंड का सामना नहीं करना पड़ता ।
  • त्वचा के रोगों के लिए
    सरसों का तेल त्वचा के रोगों के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। जब भी हमे त्वचा के रोग जैसे दाद, खुजली, खाज आदि का सामना करना पड़ता है, तो हमें आक के पत्तों का रस, हल्दी और सरसों के तेल मिलकार गर्म करना चाहिए और ठंडा होने पर इसे लगाना चाहिए। इससे आप को राहत का एहसास होगा।
  • कील मुंहासे से बचाता है
    जब भी हमारे चेहरे पर कील मुंहासे या झुरियां पड़ जाती है, तो हमें सरसों के तेल से चेहरे की मालिश करनी चाहिए। इससे हमारा चेहरा साफ़ हो जाता है।
  • बालों के लिए
    सरसों के तेल से बालों में मालिश करने से बाल लंबे होते हैं। जब भी हमारे बाल झड़ते हैं, तो सरसों के तेल में थोडा हीना पाउडर डालकर उसे उबाल लेना चाहिए। ठंडा होने पर उसे अपने बालों में लगाना चाहिए। इससे बाल झड़ना बंद हो जाते हैं ।
  • थकान को दूर करें
    जब भी हम थके हुए होते हैं, तब सरसों की तेल से मालिश करने से हमारी थकान दूर हो जाती है साथ में हमारे शरीर में स्फूर्ति आती है और हमारे शरीर का खून बढ़ता है।
  • दांतों के लिए
    दांतों में दर्द होने पर सरसों के तेल में थोडा नमक डालकर अपने दांतों और मसुडो पर लगाने से आप को दर्द से राहत मिलती है साथ में मसुडो से खून निकलना बंद हो जाता है।
  • आँखों के लिए
    रात को सोने से पहले अपने पैरों के तलवों पर मालिश करने से आँखों की कमजोरी दूर होती है।
  • अस्थमा में उपगोयी

सरसों के तेल में कपूर को डालकर अच्छे से गर्म करें फिर उसकी मालिश अच्छे से पीठ और सीने पर करें, ऐसा करने से अस्थमा का घरेलू उपचार होता है ।

डिसक्लेमर : Sehatgyan.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatgyan.com की नहीं है। sehatgyan.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।