हेल्थ टिप्स हिन्दी

ब्रेकफास्ट न करने के नुकसान

नाश्ता नहीं करने से हमें शरीर बहुत ही नुकसान हो सकता है, इससे कई तरह के रोगों का सामना करना पड़ता है, Harmful Effects Of Skipping Breakfast.

सुबह का नाश्ता या ब्रेकफास्ट दिन का सबसे महत्वपूर्ण खाना होता है और इसे कभी भी स्किप नहीं करना चाहिए। नाश्ता दिन के दूसरे मील की अपेक्षा स्वस्थ और महत्वपूर्ण माना जाता है। कई शोधों से यह दावा किया जाता है कि नाश्ता हमें अपना वजन कम करने में मदद करता है और जो लोग सुबह का नाश्ता नहीं करते उनमें मोटापे का खतरा बढ़ सकता है।

ब्रेकफास्ट न करने के नुकसान

सिरदर्द को दूर करने के लिए खाएं नाश्ता

सिरदर्द को दूर करने के लिए खाएं नाश्ता

लो ब्लड शुगर के स्तर को चिकित्सा की भाषा में हाइपोग्लाइसीमिया कहते हैं। दिन के पहले भोजन के रूप में ब्रेकफास्ट ब्लड शुगर को नियंत्रित करने में मदद करता है। हालांकि, जब कोई व्यक्ति अपना नाश्ता छोड़ता है, तो ब्लड शुगर का स्तर काफी कम होता है, जिसके परिणामस्वरूप हार्मोन बहुत ज्यादा रिलीज होता है। दूसरी ओर, यह रक्तचाप के स्तर को बढ़ाता है, सिरदर्द और सिरदर्द को ट्रिगर करता है। इसलिए, यदि आप सिरदर्द को दूर रखना चाहते हैं, तो सुनिश्चित करें कि आप अपना नाश्ता खाएं।

कार्डियोवास्कुलर रोगों में कम करे नाश्ता

जो लोग सुबह का नाश्ता या ब्रेकफास्ट नहीं लेते उनमें उच्च रक्तचाप की संवेदनशीलता बढ़ जाती है। इससे स्ट्रोक सहित, पुरानी कार्डियोवास्कुलर स्वास्थ्य स्थितियों के विकास का जोखिम बढ़ जाता है।

मेटाबॉलिज्म को कम करे नाश्ता

नाश्ता न करने से आपके शरीर का मेटाबॉलिज्म धीमा हो जाता है। जिस तरह कार चलाने के लिए ईधन की जरूरत होती है उसी तरह ब्रेकफास्ट से आपके शरीर को मेटाबॉलिज्म मिलता है और आप काम करने के लिए सक्रिय हो जाते हैं। जो लोग सुबह का नाश्ता करते हैं, उनका मेटाबॉलिजम सही रहता है।

 

वजन को बढ़ाए नाश्ता छोड़ना

वजन को बढ़ाए नाश्ता छोड़ना

कई लोग अपना वजन कम करने के लिए नाश्ता नहीं करते। यह धारण बहुत ही गलत है। नाश्ते छोड़ने से मोटापा होने का खतरा बढ़ सकता है या वजन घटाना मुश्किल हो सकता है। जब आप नाश्ता छोड़ते हैं तो पूरे दिन आपको कुछ न कुछ खाने का मन करता है। इससे फैटी और शुगर से भरपूर आहार लेने की इच्छा बढ़ जाती है, जिससे आपका वजन बढ़ने लगता है।

कमजोरी का एहसास

अगर आप ब्रेकफास्ट नहीं करते हैं, तो मजबूरन आपके शरीर को ऊत्तकों से ग्लूकोज लेना पड़ता है। इससे आप लंच तक कमजोर और आलसी महसूस करते रहते हैं। नाश्ता न करने से कमजोरी महसूस होती हैं और इसी कमजोरी के कारण आप शारीरिक क्रियायें भी कम करते हैं। इस स्थिति में शारीरिक लक्षण, जैसे कि अस्थिरता, चक्कर आना, कमजोरी, सिरदर्द और झुनझुनी आदि दिखाई देते हैं।

दिमागी तौर पर असर करे

अध्ययन के मुताबिक, जो व्यक्ति सुबह का नाश्ता नहीं करता है, वे सबसे खराब मेमोरी स्किल और सबसे ज्यादा थकान के स्तर दिखाते हैं। इसके अलावा नाश्ता न करने से ध्यान में कमी भी आ जाती है। आपका शरीर और दिमाग दोनों बीमार महसूस करने लगते हैं।

टाइप-2 डायबिटीज होने का खतरा

टाइप-2 डायबिटीज होने का खतरा

महिलाओं पर किए गए एक शोध के मुताबिक जिन महिलाओं को नाश्ता न करने की आदत थी, उनके अंदर टाइप-2 डायबिटीज विकसित होने के अधिक खतरे दिखाई दिए। नाश्ता आपके ब्लड शुगर को स्वस्थ तरीके से नियंत्रित करने में मदद करता है, इसलिए आपके समग्र स्वास्थ्य के लिए यह महत्वपूर्ण है।

डिसक्लेमर : Sehatgyan.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatgyan.com की नहीं है। sehatgyan.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।