हेल्थ टिप्स हिन्दी

ग्रीन टी के नुकसान – रहें सावधान

Green tea side effects in hindi.

ग्रीन टी के नुकसान जाने सेहत के लिए - Green tea side effects in hindi

ग्रीन टी का सेवन करना आज के समय में किसी फैशन से कम नहीं है। आमतौर पर वह लोग इसका सेवन करते हैं, जो अपनी सेहत का ख़ास ख्याल रखते हैं या फिर वो जो अपना वजन कम करना चाहते हैं। देखा जाए तो ग्रीन टी का सेवन करने से हमें बहुत से फायदे मिलते हैं, लेकिन ग्रीन टी के नुकसान भी होते हैं क्योंकि इसमें कुछ ऐसे तत्व पाए जाते हैं, जो हमारी सेहत के लिए बेहद खतरनाक साबित हो सकते हैं। इसलिए ग्रीन टी का सेवन करने से पहले हमें इससे होने वाले साइड इफ़ेक्ट के बारे में जानकारी लेना अति आवश्क है।

आयरन की कमी से एनीमिया
जब हम ग्रीन टी का अत्याधिक सेवन करते हैं, तब हमारे शरीर में लौह अर्थात आयरन की कमी आने लगती है। क्योंकि ग्रीन टी में कैटेकिन पाए जाते हैं। ये हमारे शरीर के पोषक तत्वों से होने वाले आयरन के अवशोषण में समस्या उत्पन्न करता है।

कैफीन
कॉफी में कैफीन पाया जाता है, इस बारे में हम सभी जानते हैं। लेकिन क्या आप जानते हो कि ग्रीन टी में भी कैफीन मौजूद होता है, लेकिन इसमें कॉफी की अपेक्षा बहुत ही कम कैफीन होता है। जब हम दिनभर में ग्रीन टी का अत्याधिक सेवन करते हैं तो इससे हमें कई तरह की बीमारियों का सामना करना पड़ता है, जैसे कि पेट की समस्या, अनिंद्रा, उल्टी, दस्त आदि।

गर्भावस्था में
जब महिला गर्भावस्था में हो या फिर शिशु के जन्म के बाद भी ग्रीन टी का अत्यधिक सेवन किया जाता हो उससे हमें लाभ होने की बजाय हानि उठानी पडती है। इसका अधिक सेवन करने से गर्भपात की संभावना बढ़ जाती है। दिन में दो कप से अधिक ग्रीन टी का सेवन करने से गर्भवती महिलाओं को बीमारियों का सामना करना पड़ता है।

खाली पेट पीने से एसिडिटी
ग्रीन टी का सेवन दिन में दो से तीन कप से अधिक नहीं करना चाहिए और खाली पेट तो इसका सेवन बिल्कुल ही नहीं करना चाहिए। इससे आपको एसिडिटी की समस्या हो सकती है। इसके साथ आपको कब्ज, मतली, उल्टी का खतरा पैदा हो सकता है।

ऑस्टियोपोरोसिस
ग्रीन टी और ऑस्टियोपोरोसिस में किसी प्रकार का कोई संबंध नहीं होता। लेकिन जब हम ग्रीन टी का अधिक मात्रा में सेवन करते हैं, तो हमारे शरीर में कैल्शियम की मात्रा बढ़ जाती है जो यूरिन के रास्ते से हमारे शरीर से बाहर निकल जाता है। इस प्रकार से हमारे शरीर में कैल्शियम की कमी हो जाती है जिससे ऑस्टियोपोरोसिस जैसी बीमारी का खतरा पैदा हो सकता है।

भूख में कमी
जब हम ग्रीन टी का अधिक मात्रा में सेवन करते हैं, तो इसका असर हमारी भूख पर पड़ता है। जिसके कारण हम अपनी सही से डाइट नहीं ले पाते और हमारे शरीर को जरूरी पोषक तत्व नहीं मिल पाते। जिसके कारण हम में कमजोरी आ जाती है।

गुर्दे की पथरी
ग्रीन टी में ऑक्जेलिक एसिड पाया जाता है जो गुर्दे की पथरी का एक कारण हो सकता है। इसके अतिरिक्त इसमें कैल्शियम, यूरिन, अमीनो और फास्फेट पाया जाता है। जिससे हमें गुर्दे की पथरी हो सकती है।

Health and Beauty tips in Hindi अब पाएं यूट्यूब पर - और हमारे साथ फेसबुक पेज , ट्विटर हैंडल और गूगल प्लस पर जुड़ें