हेल्थ टिप्स हिन्दी

आइसक्रीम के फायदे और नुकसान

आइसक्रीम के फायदे और नुकसान सेहत के लिए और रहें जागरूक, icecream khane ke fayde aur nuksan

जो लोग आइसक्रीम खाना पसंद करते हैं वो मौसम को ध्यान में नहीं रखते, बल्कि आइसक्रीम का आंनद हर मौसम में लेते हैं, वो मौसम भले हो गर्मी हो या सर्दी। आइस क्रीम खाना जितना मजेदार होता है उतने ही आइसक्रीम के फायदे भी होते हैं। जी हाँ आइसक्रीम खाना सोने पर सुहागे वाली बात होती है।

आइस क्रीम का सेवन करने से आपको काफी हद तक ताजगी का अहसास होता है। इससे आपकी थकान भी दूर हो जाती है। यह हमारी सेहत के लिए गुणकारी होती है। तो आइये जानते है आइसक्रीम के फायदे के बारे में…

आइसक्रीम के फायदे और नुकसान – Icecream ke fayde aur nuksan

आइसक्रीम के फायदे

आइसक्रीम के नुकसान

आइसक्रीम के फायदे

#1 ताजगी का अहसास

जिस समय आप आइस क्रीम का सेवन करते हो उस समय को काफी हद तक आप अपने आप को रिफ्रेश अर्थात तरोताजा महसूस करते हो। यदि अप बहुत अधिक थके हुए हो और उस या बोझिल महौल से निकलना चाहें, आइसक्रीम थकान को दूर करना चाहते हो तब ऐसे में आपको आइसक्रीम का सेवन आवश्य करना चाहिए।

#2 उर्जा प्रदान करें

आइसक्रीम का सेवन करने से आपको उर्जा की प्राप्ति होती है, क्योंकि यह पूरी तरह से दूध, शक्कर और मेवे से तैयार होती है। इसका सेवन करने से शरीर में कई पोषक तत्वों की आपूर्ति हो जाती है जैसे विटामिन ए, बी, सी, डी, मिनरल्स आदि।

#3 तनाव को दूर करें

आइसक्रीम के फायदे सेहत के लिए - Icecream ke fayde sehat ke liye

आइसक्रीम का सेवन आपको अनावश्यक तनाव से दूर रखता है और यह ख़ुशी का संचार करने में मददगार होता है। यदि आपका मूड ठीक नहीं है तब आपको आइसक्रीम का सेवन करना चाहिए। इससे आपका मुड ठीक हो जाता है साथ ही आपका गुस्सा भी शांत हो जाता है।

#4 कैल्शियम से भरपूर

आइसक्रीम के फायदे में एक फायदा यह है कि आइसक्रीम कैल्शियम से भरपूर होती है। जिससे यह न केवल हड्डियों के लिए लाभकारी होती है बल्कि कोलोन कैंसर से बचाने में भी बहुत सहायक होता है।

#5 मुंह के छालें के लिए

आइसक्रीम के फायदे में एक फायदा यह है कि इसका सेवन करने से मुंह के छालों की दर्द और जलन से दूर हो जाती है। जब हम आइसक्रीम का सेवन करते हैं तब छालें सुन्न हो जाते हैं। जिससे शान्ति का अहसास होता है।

#6 प्रोटीन से भरपूर

दूध के अन्य उत्पादों के तरह आइस क्रीम को भी प्रोटीन का एक बेहतर स्रोत माना जाता है। प्रोटीन हड्डियों, मांसपेशियों, खून और त्वचा के लिए फायदेमंद होता है। शरीर के कुछ हिस्से प्रोटीन से ही बनते हैं, जैसे बाल, नाख़ून। आइस क्रीम का सेवन करने से शरीर को प्रोटीन प्राप्त होता है। आइसक्रीम का सेवन आप व्यायाम और योग के बाद भी कर सकते हैं।

#7 विटामिन से भरपूर

आइसक्रीम के फायदे में एक फायदा यह है कि यह विटामिन से भरपूर होता हैं। इसमें विटामिन ए, बी 2 और बी 12 मौजूद होते हैं, जो सेहत के लिए फायदेमंद होते हैं। विटामिन ए आँखों के लिए और विटामिन बी 2 और बी 12 मेटाबॉलिज्म को संतुलित बनाए रखने में मददगार होता है। यदि आप दूध का सेवन नहीं करते तो आइसक्रीम का सेवन करके आप दूध की कमी को पूरा कर सकते हैं।

आइसक्रीम के नुकासन

आइसक्रीम कुछ लोगों के लिए समस्याएं पैदा कर सकता है क्योंकि यह डेयरी आधारित प्रोडक्ट है और इसमें लैक्टोज होता है जो एक मिल्क शुगर है। आइए जानते हैं आइसक्रीम के नुकसान के बारे में…

#1 फैट

आइसक्रीम के नुकसान सेहत के लिए - Icecream ke sideeffects aur nuksan

आइसक्रीम खाद्य पदार्थों में स्वास्थ्यप्रद नहीं है, क्योंकि इसमें उच्च मात्रा में वसा और कैलोरी पाई जाती है। जो हृदय रोग का कारण बन सकता है।

#2 सेचुरेटेड फैट

सेचुरेटेड फैट एसिड आमतौर पर मांस, दूध, अंडे और मक्खन जैसे पशु उत्पादों में पाए जाते हैं। आइसक्रीम में भी सेचुरेटेड फैट होता है। सेचुरेटेड फैट की अतिरिक्त खपत आपके रक्त में कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढ़ा सकती है। इसके अलावा दिल के दौरे और स्ट्रोक का भी खतरा हो सकता है।

#3 रक्त में कोलेस्ट्रॉल

वेनिला आइसक्रीम की एक 1/2-कप में 25 मिलीग्राम कोलेस्ट्रॉल होता है। आइसक्रीम का ज्यादा से वन आपके रक्त में कोलेस्ट्रॉल के स्तर को बढ़ा सकती है और हृदय रोग और डायबिटीज के खतरे को बढ़ा सकती है।

#4 शुगर की मात्रा ज्यादा

शुगर वजन बढ़ाने में काफी योगदान करता है और अंत में, हृदय रोग को बढ़ाने का काम करता है। शुगर का तात्कालिक प्रभाव ब्लड ग्लूकोज स्तर को बढ़ाने का काम करता है।

डिसक्लेमर : Sehatgyan.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatgyan.com की नहीं है। sehatgyan.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।