हेल्थ टिप्स हिन्दी

मोटापे को कम करने के 9 उपाय

Motapa ko kam karne ke 9 upay

रोज बदलती जीवनशैली में वज़न का बढ़ना आम समस्या बनकर उभरी है. अक्सर वजन बढ़ने के पीछे शरीर में वसा की मात्रा का अधिक होना होता है. वसा की मात्रा अधिक होने के कारण कमर के दोनों ओर पेट पर चर्बी बढ़ जाती है. अपनी कमर पर बढ़ती चर्बी से परेशान लोग इस पर नियंत्रण के तरह-तरह के उपाय अपनाते हैं. अपनाये जाने वाले उपायों में से ये 9 प्रभावी है –

पैदल चलें –

बदलती जीवनशैली में सुबह की सैर अत्यंत आवश्यक हो जाती है. सुबह आधे से पौने घंटे की नियमित सैर कमर और पेट पर से चर्बी घटाती है. कुछ शोध की मानें तो सुबह की सैर के दौरान सूरज की किरणों से निकलने वाली उर्जा जहाँ मन-मस्तिष्क में ताजगी का संचार करती है वहीं उससे विटामिन डी की भी प्राप्ति भी होती है.

सुबह का नाश्ता –

कई लोगों की धारणा है कि सुबह का नाश्ता न करने से शरीर से वसा की मात्रा कम कर वजन को नियंत्रित किया जा सकता है. हालांकि, यह धारणा सत्य से परे है. 

ये करें ऑफिस वाले –

ऑफिस में काम करने वाले अक्सर सीढ़ियाँ छोड़ लिफ्ट का प्रयोग करते हैं. इससे बेशक वो जल्दी अपने गंतव्य तक पहुँच जाते हों, जबकि यह सेहत के लिए फायदेमंद नहीं माना जाता. इसलिये ऑफिस पहुँचने के लिये सीढ़ियों का प्रयोग सेहत के लिये अच्छा माना जाता है. पैदल चलने से रक्त का प्रवाह तो सुचारू होता ही है, माँसपेशियाँ भी मज़बूत होती है.

कसरत भी जरूरी है –

बदली जीवनशैली में अगर रोज कसरत न कर सकें तो सप्ताह में दो से तीन बार 20-25 मिनट तक कसरत करने की कोशिश करें. वज़न घटाने में यह भी कारगर साबित हो सकता है. 

सोने से पहले –

कहा यह भी जाता है कि रात को सोने से पहले गरम पानी में नमक मिलाकर नहाने से भी वज़न कम होता है.

खाने में क्या ?

दोपहर के खाने में मेग्निशियम की भरपूर मात्रा होनी चाहिये. अपने खाने में हरी सब्जियों और मछलियों को शामिल करें. 

ठंडा पानी –

दिन में कम से कम एक बार ठंडे पानी से स्नान करें. 

भूख लगे खाने के बाद तो…

खाना खाने के तीन से चार घंटों के बाद अक्सर भूख का एहसास होता है. ऐसी स्थिति में स्नैक्स के मुकाबले सूप को प्राथमिकता दें.  

नींद –

वज़न को नियंत्रण में रखने के लिये रात में सात से आठ घंटों की नींद बहुत जरूरी है.

Health and Beauty tips in Hindi अब पाएं यूट्यूब पर - और हमारे साथ फेसबुक पेज , ट्विटर हैंडल और गूगल प्लस पर जुड़ें