घरेलू नुस्खे - घरेलू उपचार दांतों की देखभाल

दांतों में सड़न को दूर करने के घरेलू उपाय

दांतों में सड़न को दूर करने के घरेलू उपाय

प्रोसेस्ड फूड और फाइटिक एसिड से समृद्ध खाद्य पदार्थों का बहुत अधिक सेवन तथा कैल्शियम, मैग्नीशियम और फास्फोरस की कमी की वजह से दांतों में सड़न देखने को मिलता है। इस सड़न की वजह से आपके दांत खराब हो जाते हैं। इससे दांतों दर्द और मसूड़े की समस्या तथा दूसरे अन्य समस्या देखने को मिलता है। आज हम दांतों में सड़न को दूर करने के घरेलू उपाय के बारे बात करेंगे।

क्या है दांतों में सड़न

क्या है दांतों में सड़न

दांतों में सड़न या कैविटी दांतों की कठोर सतह में छोटे छेद होते हैं। ये शुगर से एसिड बनाने वाले दांतों की सतह पर बैक्टीरिया के कारण होते हैं। बैक्टीरिया एक चिपचिपा पदार्थ बनाती है जिसे प्लाक कहा जाता है। प्लाक में एसिड आपके एनामेल से खनिजों को खत्म कर देती है।

दांतों में सड़न को दूर करने के घरेलू उपाय

 

दांतों में सड़न को दूर करे नमक पानी

यह दांत से संबंधित दर्द के लिए सबसे आम घरेलू उपाय है। यह मुंह से बैक्टीरिया को मुक्त रखता है और कैविटी से चिपचिपापन को हटा देता है। इसके लिए आप एक गिलास गर्म पानी में एक चम्मच नमक या सेंधा नमक डालिए। इसे अच्छी तरह से मिक्स करके गरारे कीजिए। आपको जरूर फायदा मिलेगा।

लौंग का तेल

लौंग का तेल

एंटी बैक्टीरियल और एंटीफंगल गुणों के कारण लौंग एक बेहतरीन औषधि है तथा भारत के व्यंजनों में लौंग का इस्तेमाल कई तरीकों से किया जाता है। इससे बना तेल दांतों में सड़न को दूर करने का बहुत ही अच्छा रामबाण उपाय है।

लौंग का तेल कैविटी और दांत के सड़न के कारण होने वाले दर्द से आपको बहुत ही आराम देता है। लौंग में यूजीनॉल होता है, जो नैचुरल एंटीसेप्टिक हैं। इसके एंटीमाइक्रोबायल घटक विभिन्न प्रकार के बैक्टीरिया, कवक, और वायरस के विकास को रोकते हैं। आप लौंग के तेल को कॉटन में डिप करके दांत के प्रभावित क्षेत्र में रख सकते हैं।

सरसों का तेल और सेंधा नमक

सरसों का तेल सेहत और सुंदरता दोनों के ही लिए बहुत लाभकारी है। सेंधा नमक और सरसों का तेल भारतीय रसोई घरों में सालों से प्रयोग किया जा रहा है। खाना बनाने के लिए इन सामग्री का प्रयोग रोजाना किया जाता है।

सरसों का तेल एंटीमाइक्रोबायल है, जबकि सेंधा नमक मुंह में पीएच स्तर को संतुलित करने में मदद करता है। इसके लिए आप एक चम्मच सरसों का तेल और एक सेंधा नमक लीजिए और अच्छी तरह से मिक्स कर लीजिए। इसके बाद धीरे धीरे इससे अपने दांतों और मसूड़ों की मसाज कीजिए।

दांतों में सड़न से छुटकारा दिलाए नींबू

विटामिन सी के स्तर में सुधार, रक्त कोलेस्ट्रॉल में कमी, लिवर के कार्य को बढ़ावा देना, चयापचय को बढ़ावा देना, पाचन में मदद और मुंहासे का इलाज आदि कामों के लिए नींबू बहुत ही गुणकारी है।

इसके अलावा नींबू दांतों में सड़न से छुटकारा दिलाने में भी सहायता करता है। नींबू विटामिन सी का एक समृद्ध स्रोत हैं। नींबू के रस में पाए जाने वाले एसिड कैविटी के कारण होने वाले दर्द को कम करने में मदद करते हैं और बैक्टीरिया को मार देते हैं। इसके लिए कुछ मिनट के लिए नींबू को चूसे और पानी से मुंह धो लीजिए। – नींबू के फायदे और गुण

लहसुन

लहसुन

हम खाना बनाने के लिए लहसुन का बहुत ही इस्तेमाल करते है। इसमें एंटीफंगल और जीवाणुरोधी गुण होते हैं और साथ ही, दर्द निवारक के रूप में काम करके दांत दर्द से छुटकारा पाने में मदद करता है। इसके लिए आप सुबह खाली पेट लहसुन की एक कली को चबाएं।

बेकिंग सोड़ा

दांतों का पीलापन दूर करने के लिए बेकिंग सोडा बहुत कारगार है। जिस तरह हम दांत साफ करते वक्त नमक का इस्तेमाल करते हैं उसी तरह बेकिंग सोडा का इस्तेमाल भी आपके लिए फायदेमंद है। इस बात का ध्यान दीजिए कि आप इसका इस्तेमाल रोज न करें।

नीम

नीम

आपके दांतों को साफ रखने के लिए नीम को पुराने तरीकों की तरह इस्तेमाल किया जाता है, लेकिन यह स्वस्थ दांत पाने का एक प्रभावी तरीका है। इसके लिए आप नीम की टहनी से अपने दांतों की सफाई कर सकते हैं। यदि आप नीम का यूज लेंगे तो इससे दांत और मसूड़ों की समस्या ठीक होगी। – नीम के तेल के फायदे

डिसक्लेमर : Sehatgyan.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatgyan.com की नहीं है। sehatgyan.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।

2 Comments

Leave a Comment